AR RAHMAN SAFALTA KI KAHANI IN हिंदी कहानी ?

AR RAHMAN SAFALTA KI KAHANI IN HINDI
ए र रहमान सफलता की कहानी इन हिंदी कहानी 


हेलो दोस्तों में मुज्जु इनफॉर्मर आज में आपको AR रहमान की कहानी बताऊँगा अगर आप AR रहमान की हिंदी में कहानी बायोग्राफी जानना चाहते है तो आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़े चलिए शुरू करते है.

AR RAHMAN SAFALTA KI KAHANI IN हिंदी कहानी - ए र रहमान की सफलता की हिंदी कहानी
AR RAHMAN की सफलता की कहानी इन हिंदी 

AR एक सिंगर कंपोजर और सॉन्ग राइटर और म्यूजिक प्रोडूसर और म्यूजिशियन है ,AR रहमान ने कई भाषाओ में संगीत दी है जैसे हिंदी तमिल उर्दू में दिया है ,

AR रहमान की पिता का बोहत ही कम उम्र में डेथ हो गयी थी जिसके बाद AR रहमान पर बोहत मुसीबत आचुकी थी और इतनी मुसीबत आयी थी के AR रहमान के घर में जो भी म्यूजिक गिटार थे उनको किराये पर देना पढ़ गया था और शायद आपको ये सब बाते नहीं पता होगी चलिए जानेंगे AR रहमान की पूरी लाइफ जर्नी की कहानी इन हिंदी में। 


AR रहमान की सफलता की पूरी कहानी इन हिंदी कहानी
AR RAHMAN SUCCESS STORY IN HINDI KAHANI 


AR रहमान 6 जनवरी 1967 में तमिलनाडु चेन्नई में जनम पैदा हुवे थे और AR रहमान का पिता का नाम R K शेकहर था और मलयालम फिल्म्स के कम्पोसर थे और उनकी माँ का नाम करीमा बेगम थी ,
AR रहमान के पिता पहले से ही तमिल मलयालम के म्यूजिक कम्पोज़र थे इस्सलिये AR रहमान भी सिंगिंग में बोहत इंटरेस्ट थे और AR रहमान कभी कभी अपने पिता के लिए गिटार बजा लेते थे ,और एक दिन AR रहमान की फॅमिली ऐसी दुर्घटना घटी के सिर्फ 9 साल के थे AR रहमान जब उनके पिता की डेथ होगयी थी ,

AR रहमान को इतनी मुसीबत आगयी के उनके घर का किराया चलाने के लिए घर का संगीत सामन को रेंट पर देनी पढ़ गयी थी और उससकेबाद AR रहमान बाहर काम करके घर संभालते थे और आगे चलके रहमान ने कुछ लोगो के साथ मिलकर NEMESIS AVENUE नाम का खुद का गिटार संगीत का बोर्ड बनाया था और रहमान पच्चपन से ही काफी टलेंटेट थे उनको सबको कुछ बजाने आता था जैसे कीबोर्ड , PIANO , हारमोनियम ,और गिटार जैसे इंस्ट्रूमेंट बजाने में बोहत महारत थे और AR रहमान को सबसे ज़्यादा इंटरेस्ट सिंथेसाइज़र में था क्यों के संगीत और टेक्नोलॉजी का सबसे अच्छा कॉम्बिनेशन था। 

AR रहमान ने अपनी पूरी म्यूजिकल ट्रेनिंग मास्टर धनराज से सीखे थे और रहमान सिर्फ 11 साल के थे जब उनको एक मलयालम मूवीज में कंपोजर के तौर पर काम करने का मौक़ा मिला था और उनके पिता के दोस्त M.K अर्जुनन ORCHESTRA में भी काम करते थे और रहमान बोहत ही जल्दी MS विस्वनाथान , रमेश नायडू , और राज कोटि फेमस म्यूजिक कंपोजर के साथ काम करना शुरू करदिया और रहमान के टैलेंट को देखते हुवे ट्रिनिटी कॉलेज लंदन से म्यूजिक की पढ़ाई के लिए उनको स्कालरशिप मिली और आगे चलके मद्रास में पढ़ते हुवे रहमान वेस्टर्न क्लासिकल म्यूजिक डिप्लोमा के साथ डिग्री करलिए। 

वैसे तो रहमान 1989 में तो AS दिलीप कुमार के नाम से जाने जाते थे लेकिन 1989 में किसी चीज़ के कारन AR RAHMAN अपने पुरे परिवार के साथ इस्लाम मुस्लिम बनगए और तब जाके उन्होंने अपना नाम बदलकर AR RAHMAN यानि की अल्लाह रखा रख लिया ,

रहमान ने अपनी करियर की शुरुवात ADS और डॉक्युमंट्री के लिए म्यूजिक कम्पोज़र करके किया और उससकेबाद 1992 में मणि रत्नम में उनको म्यूजिक कम्पोज करने का ऑफर्स दिया और रहमान भी इस में काम करने के लिए त्यार होगये और इस म्यूजिक में गाये हुवे बेस्ट नेशनल फिल्म अवार्ड्स सिल्वर लोटस अवार्ड मिला था , और उससकेबाद AR रहमान ने 1992 में पंचायत रिकॉर्ड इन् म्यूजिक स्टूडियो बनाया था ये भारत और एशिया का NO.1 स्टूडियो में से एक था और AR रहमान का म्यूजिक कंपोजर का तरीका दूसरे लोगो से हटके था और शायद लोगो को भी उनकी यही बात बोहत अच्छी लगती थी और रहमान को चाहने वाले भी बोहत लोग FANS बनगए थे उनके और आगे चल के रहमान ने BOMBAY ,THE अर्बन KADHALAN, थिरुदा थिरुधा जेन्टलमैन जैसी तमिल मूवीज में अपनी जादू संगीत का चाप छोड़ा। 

AR रहमान 1995 में इंदिरा MR. ROMEO और लव बर्ड्स जैसे फिल्मो ने उनकी FANS लोगपिरय में चार चाँद लगा दिए और रहमान इसी साल सायरा बानू के साथ शादी करलिए और रहमान बॉलीवुड में डब्यू रंगीला मूवी से हुवा और आगे जाके उनको बॉलीवुड में बोहत सारी मूवी में काम करने का मौक़ा मिला जैसे दिलसे , लगान , फ़िज़ा , दाऊद कई और फिल्म्स में म्यूजिक दिया लेकिन 2008 में आयी स्लम डॉग मिलियनेयर मूवी ने उनकी ज़िन्दगी बदल दी जिसके वजह से 2008 में उनको दो गोल्डन अवार्ड्स मिले जैसे गोल्डन ग्लोब अवार्ड और TWO एकडेमी अवार्ड्स मिले और ये अवार्ड्स जितने वाले फर्स्ट ASIAN बने थे। 

AR रहमान को हॉलीवुड मूवी कपल्स रिट्रीट में भी संगीत दिए थे और इस फर्स्ट हॉलीवुड में भी इनको BMI लंदन अवार्ड्स मिला था और आगे जाके बोहत सारी मूवी में संगीत दिए थे जैसे SWADE , रंगदेबासन्ती , JODHA अकबर , JAANE TU KYAA JAANE , EKK DEEWANA THA , JAB TAK HAI JAAN और रॉकस्टार जैसे मूवी में म्यूजिक कंपोज़ करके लोगो में एक अलग पहचान बना लिया था और इस्सके अलावा भी AR रहमान साउथ मूवी में भी अपना बोहत सारे म्यूजिक कंपोज़ दिए है और अगर AR रहमान की पर्सनल लाइफ की बात करे तो मेने आपको पहले ही बताया की 1995 में सायरा बानू के साथ शादी की थी और AR को सिर्फ 3 बच्चे है रहीम और अमीन और खतीजा है इसी तरह AR रहमान बोहत जगह काम किये थे और रहमान अपने जादुइ संगीत की वजह से बोहत सारे अवार्ड्स भी जीते है जैसे 

4 नेशनल अवार्ड्स 
6 तमिलनाडु स्टेट्स फिल्म अवार्ड्स 
15 फिल्म्स FARE अवार्ड्स 
16 साउथ फिल्म FARE अवार्ड्स 
और उस्सकेसाथ म्यूजिक में एक अच्छा काम करने केलिए उनको भारत से पदमा श्री अवार्ड्स भी मिला था और कुल मिलकर बात किया जाए तो AR रहमान एक कंपोजर म्यूजिक है ही लेकिन AR रहमान अपने देश भारत को इंटरनेशनल लेवल पर रिप्रेजेंट करके भारत देश का नाम रोशन किया है। 

मुझे उम्मीद है आपको ये AR रहमान की कहानी बोहत अच्छी लगी होगी अगर और हिंदी कहानी पढ़ना चाहते है तो आप हमारे मुज्जु इनफॉर्मर वेबसाइट के कैटेगरी में जाकर हिंदी कहानी कहानिया और हिंदी बायोग्राफी पढ़ सकते है थैंक्स फॉर वाचिंग। 


SHARE

Milan Tomic

Hi. I’m Designer of Blog Magic. I’m CEO/Founder of ThemeXpose. I’m Creative Art Director, Web Designer, UI/UX Designer, Interaction Designer, Industrial Designer, Web Developer, Business Enthusiast, StartUp Enthusiast, Speaker, Writer and Photographer. Inspired to make things looks better.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

1 comments: